एमिटी विश्वविद्यालय में दिव्यांगो द्वारा तैयार किये गये उत्पादों का लगा दिवाली मेला ।




मनोज तोमर दैनिक फ्यूचर लाइन टाईम्स ब्यूरो चीफ गौतमबुद्धनगर 
गौतमबुद्धनगर।एमिटी विश्वविद्यालय के एमिटी इंस्टीयूट ऑफ रिहैबिलिटेशन साइंसेस द्वारा ‘‘समागम - बेहतर साथ ‘‘दीवाली प्रतिभा मेला 2023’’ का आयोजन एच ब्लाक, एमिटी कैपस में किया गया। इस मेले का शुभारंभ एमिटी विश्वविद्यालय की वाइस चांसलर डा बलविंदर शुक्ला, एमिटी इंस्टीयूट ऑफ रिहैबिलिटेशन साइंसेस के मार्गदर्शक डा एस के श्रीवास्तव और एमिटी इंस्टीयूट ऑफ रिहैबिलिटेशन साइंसेस की निदेशक डा जयंती पुजारी द्वारा किया गया। इस अनोखे दिवाली मेेले का उददेश्य दिव्यांगो के लिए कार्य करने वाले विभिन्न संगठनों के दिव्यांग व्यक्तियों द्वारा डिजाइन और तैयार किये गये हस्तनिर्मित उत्पादों को बढ़ावा देना है।
इस दिवाली मेले का शुभारंभ करते हुए एमिटी विश्वविद्यालय की वाइस चांसलर डा बलविंदर शुक्ला ने कहा कि आज एमिटी विश्वविद्यालय में समावेश और विविधता का जश्न मनाया गया जिसमें छात्रों, शिक्षकों सहित सभी ने हिस्सा लिया। दिवाली का यह त्यौहार किसी व्यक्ति, धर्म या संपन्न निर्धन तक सीमीत नही है बल्कि यह सभी का त्यौहार है। स्टॉलो पर दिव्यांग व्यक्तियों द्वारा बनाये गये उत्पादों में उनकी सुदंर रचनात्मक शक्ति यह दर्शाती है कि किसी भी प्रकार की असक्षमता प्रतिभा को निखरने से नही रोक सकती। एमिटी मे ंहम छात्रो ंको समभाव प्रेमभाव और राष्ट्रभाव के मूल्यों की शिक्षा देते है।एमिटी इंस्टीयूट ऑफ रिहैबिलिटेशन साइंसेस की निदेशक डा जयंती पुजारी ने जानकारी देते हुए बताया कि यह आयोजन एक अनोखा दिवाली मेला है जहां अंामंत्रित दिव्यांगो के लिए कार्य करने वाले 11 प्रतिष्ठित संगठन जैसे अमर ज्योती चैरिटेबल ट्रस्ट, राष्ट्रीय बौ़िद्धक दिव्यांगजन सशक्तीकरण संस्थान, माता भगवती चड्डा निकेतन, द देल्ही सोसाइटी फॉर द वेलफेयर ऑफ स्पेशल चाइल्ड आदि  ने स्टॅाल लगाया है और इस स्टॉल पर दिव्यांग व्यक्तियों की रचनात्मक क्षमताओं के उनके प्रयासों और मेहनत से बनाये गये उत्पादों को प्रदर्शित किया गया है।इस अवसर पर एमिटी विश्वविद्यालय के अधिकारीगण एवं शिक्षकगण उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments