सहारनपुर पुलिस की बड़ी सफलता: 'ऑपरेशन कन्विक्शन' के तहत अभियुक्तों को मौत की सजा, प्रभारी निरीक्षक सुनील नागर को प्रशस्ति पत्र

दैनिक फ्यूचर लाइन टाईम्स विशेष संवाददाता सहारनपुर।
सहारनपुर, 9 जून 2024 - सहारनपुर पुलिस ने एक और बड़ी सफलता हासिल की है। 'ऑपरेशन कन्विक्शन' के अंतर्गत, अपराधियों को न्याय दिलाने की दिशा में किए गए सशक्त प्रयासों के फलस्वरूप सहारनपुर जिले के प्रभारी निरीक्षक सुनील नागर को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. विपिन ताडा ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। यह सम्मान उन्हें अपराध पीड़ितों को न्याय दिलाने और अपराधियों को कड़ी सजा दिलाने में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए प्रदान किया गया है।
सहारनपुर के थाना कुतुबशेर में पंजीकृत मु.अ.सं. 384/2015 के तहत अपराधी भूपेंद्र बत्रा, जनरजीत, गुरु प्रताप उर्फ हनी, गुरनीत, और गुरमीत पर धारा 147, 148, 149, 307, 302, 341, और 504 भादवि के तहत मामला दर्ज किया गया था। इन अपराधियों ने एक संगठित अपराध के तहत हत्या और गंभीर हिंसा को अंजाम दिया था। इन मामलों की सुनवाई अपर सत्र न्यायाधीश कक्ष सं. 08 में हुई, जहाँ 6 जून 2024 को सभी अभियुक्तों को दोषी करार देते हुए मृत्युदंड (फांसी) और प्रत्येक पर 1.50 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया।
इस महत्वपूर्ण मामले में, प्रभारी निरीक्षक सुनील नागर ने अपराध पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए प्रभावी पैरवी और सशक्त प्रयास किए। उनके नेतृत्व में सहारनपुर पुलिस टीम ने सभी तथ्यों को मजबूती से प्रस्तुत किया, जिससे अभियुक्तों को सख्त सजा दिलाने में सफलता मिली। एसएसपी डॉ. विपिन ताडा ने उनके इस योगदान की सराहना करते हुए कहा, सुनील नागर का यह प्रयास दर्शाता है कि सहारनपुर पुलिस अपराधियों के खिलाफ सख्त कदम उठाने और पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है।‌ ऑपरेशन कन्विक्शन' सहारनपुर पुलिस की एक प्रमुख पहल है, जिसका उद्देश्य न्यायालय में प्रभावी पैरवी के माध्यम से अपराधियों को कठोर सजा दिलाना और समाज में न्याय की स्थापना करना है। इस अभियान के तहत सहारनपुर पुलिस ने कई जघन्य अपराधों में संलिप्त दोषियों को उनके अपराधों के लिए सजा दिलाई है।
डॉ. विपिन ताडा ने इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा, "ऑपरेशन कन्विक्शन के तहत हम हर संभव प्रयास कर रहे हैं कि अपराधियों को कड़ी सजा मिले और न्याय की स्थापना हो। प्रभारी निरीक्षक सुनील नागर का यह कार्य इस अभियान की सफलता का उदाहरण है।
प्रशस्ति पत्र में, एसएसपी डॉ. ताडा ने सुनील नागर के कार्यों की सराहना करते हुए उन्हें भविष्य में भी इसी प्रकार मनोयोग, कर्तव्यपरायणता और उच्च कोटि की क्षमता के साथ कार्य करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने यह विश्वास जताया कि नागर और उनकी टीम भविष्य में भी इसी तरह की सफलता प्राप्त करती रहेगी। इस प्रशस्ति पत्र के माध्यम से, सहारनपुर पुलिस ने यह स्पष्ट संदेश दिया है कि अपराध और अन्याय के खिलाफ उनकी लड़ाई में कोई कमी नहीं होगी और वे पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।
सहारनपुर पुलिस का यह कदम न केवल अपराधियों को कठोर सजा दिलाने में महत्वपूर्ण है, बल्कि यह न्याय और कानून की उच्च प्रतिष्ठा को बनाए रखने की दिशा में भी एक महत्वपूर्ण कदम है। प्रभारी निरीक्षक सुनील नागर और उनकी टीम की यह सफलता न केवल सहारनपुर पुलिस के लिए गर्व का विषय है, बल्कि पूरे समाज के लिए भी एक प्रेरणादायक उदाहरण है।





Post a Comment

0 Comments