ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का दादरी देहात क्षेत्र के साथ निर्दयी व्यवहार!

मनोज तोमर ब्यूरो चीफ दैनिक फ्यूचर लाइन टाईम्स गौतमबुद्ध नगर।
ईलमचन्द नागर फोटो।
दादरी। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण: दादरी देहात क्षेत्र का अनदेखा क्षति!
दादरी। दिनांक मई, 16-2024:दुजाना गांव निवासी सामाजिक कार्यकर्ता ईलमचन्द नागर का कहना है कि जन-आंदोलन के सदस्यों और राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमवीर सिंह आर्य एडवोकेट द्वारा संचालित 130 मीटर रोड ग्रेटर नोएडा वेस्ट गांव सैनी से आरंभ 60 मीटर रोड़ जो ईस्टर्न पेरिफेरल रोड कल्दा तक सम्पर्क मार्ग पुनः निर्माण के लिये जन-आंदोलन का कदम छेत्र की बहुत बड़ी समस्या का हल होगा।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की नजरों में दादरी देहात क्षेत्र के विकास की प्राथमिकता की अनदेखा करते हुए, जनता की मुश्किलें बढ़ रही हैं। सैक्टरों और गाँवों में विकास के असमंजस्यता के कारण, जनता की आवाज उठती जा रही है।

दादरी देहात क्षेत्र में सैक्टरों की सड़कों की बनावट पर उठते सवालों ने लोगों को चिंतित किया है। वर्ष में दो बार सैक्टरों की सड़कों की बनती है , गांवों के लोगों को बेहतर सुविधा की उम्मीद में, एक चुनौती बन गई है। इसके अतिरिक्त, गाँवों के सम्पर्क मार्गों में अधूरापन, गड़े युक्त सड़कें और नाली-खरंजे की अव्यवस्था का मुद्दा बन चुका है। 

ग्रामीण इलाकों में सड़कों की अधूरापन और नाली-खरंजे की स्थिति लोगों के लिए जीवन को अधिक कठिन बना रही है। बढ़ती जनसंख्या के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ती यातायात की चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है, जिसका कोई समाधान नहीं दिख रहा है। 

दादरी देहात क्षेत्र के लोगों का कहना है कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की धारावाहिकता में विकास के लिए उनके संघर्षों को अनदेखा किया जा रहा है। सड़कों और सामाजिक संरचनाओं की अव्यवस्थितता के चलते, लोगों को रोजगार और अन्य सुविधाओं तक पहुंचने में मुश्किल हो रही है। 

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के प्रतिनिधियों ने इस मुद्दे पर कोई आधिकारिक बयान नहीं जारी किया है। लेकिन, दादरी देहात क्षेत्र के लोग निरंतर अपनी मांगों को लेकर उत्तेजित रह रहे हैं और उनकी आवाज को सुनने की मांग कर रहे हैं।

अधिकारिकों से मिलने के बाद, यह स्पष्ट है कि सार्वजनिक सुविधाओं के विकास में संघर्ष करने वाले लोगों की आवाज को सुनने की आवश्यकता है और निर्दयी व्यव

Post a Comment

0 Comments