ग्रेटर नोएडा वेस्ट और दादरी के निवासियों के लिए महत्वपूर्ण सड़क परियोजना में देरी से भारी असंतोष!

मनोज तोमर ब्यूरो चीफ दैनिक फ्यूचर लाइन टाईम्स गौतमबुद्ध नगर।
रवि नागर फोटो 
दादरी। ग्रेटर नोएडा वेस्ट सैनी गांव की 130 मीटर रोड से बादलपुर गाँव होते हुए ईस्टर्न पेरिफेरल रोड कल्दा गांव तक 60 मीटर रोड़ प्रमुख सड़क के निर्माण की योजना लंबे समय से विचाराधीन है। इस सड़क के निर्माण से क्षेत्र के लाखों निवासियों को बड़ी राहत मिलती और क्षेत्र के विकास में भी महत्वपूर्ण योगदान होता। बावजूद इसके, इस सड़क का अब तक न बनना क्षेत्र की जनता के साथ धोखा है। 

विकास के लिए अनेक जनकल्याणकारी योजनाओं को लागू करने के बावजूद, इस महत्वपूर्ण सड़क परियोजना पर कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। इससे न केवल क्षेत्र की जनता में असंतोष फैल रहा है, बल्कि यातायात और कनेक्टिविटी की समस्याएं भी बरकरार हैं। 

इस मुद्दे को जोर-शोर से उठाते हुए जन आंदोलन संगठन के बैनर तले ओमवीर आर्य एडवोकेट ने अनेक सामाजिक संगठनों और जनप्रतिनिधियों के सहयोग से आंदोलन का नेतृत्व किया है। इस अभियान में समाजवादी पार्टी के जिला महासचिव रवि नागर भी शामिल हैं। रवि नागर ने इस मुद्दे पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, "प्राधिकरण इस मुद्दे को नजरअंदाज कर रहा है।

यह सड़क परियोजना न केवल क्षेत्रीय विकास के लिए महत्वपूर्ण है, बल्कि इससे यातायात में सुधार और आर्थिक गतिविधियों में भी बढ़ोतरी होगी। सड़क के बन जाने से ग्रेटर नोएडा वेस्ट के निवासियों को बेहतर कनेक्टिविटी और सुविधाएं मिल सकेंगी। 

क्षेत्रीय जनता का कहना है कि इस सड़क परियोजना की तत्काल आवश्यकता है। उन्होंने मांग की है कि सरकार और प्रशासन जल्द से जल्द इस पर ध्यान दें और इसे प्राथमिकता के आधार पर पूरा करें। 

इस आंदोलन को व्यापक समर्थन मिल रहा है और लोगों का कहना है कि अगर जल्द ही इस पर कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण खिलाफ जोरदार आंदोलन करेंगे।

रवि नागर ने स्पष्ट किया कि क्षेत्रीय विकास के लिए प्राधिकरण को इस सड़क परियोजना को तुरंत शुरू करना चाहिए। उन्होंने कहा, "अगर यह सड़क बन जाती है, तो इससे न केवल क्षेत्रीय जनता को लाभ मिलेगा, बल्कि यह पूरे क्षेत्र के विकास में मील का पत्थर साबित होगी।"

जनता की मांग और आंदोलन को देखते हुए अब यह देखना महत्वपूर्ण होगा कि प्राधिकरण इस पर क्या कदम उठाते हैं। क्या वे इस महत्वपूर्ण परियोजना को प्राथमिकता देंगे, या फिर क्षेत्र की जनता को निराशा का सामना करना पड़ेगा? समय ही इसका उत्तर देगा।

Post a Comment

0 Comments